कश्मीर में दहशत फैला रहे पाकिस्तान में बैठे आतंकी, हाफिज के साले ने कराई आतंकियों के लिए दुआ

श्रीनगर के पांथा चौक पर आतंकी हमले से लाहौर का कनेक्शन जुड़ा है. आजतक के पास एक वीडियो मौजूद जो पाकिस्तान को बेनकाब कर देगा. ये वीडियो आतंकी सरगना हाफिज सईद के कश्मीर में चल रहे आतंकी प्लान को बेनकाब कर देगा. ये वीडियो आतंकी संगठन जमात उद दावा के लाहौर हेडक्वार्टर का है.

इस वीडियो में साफ दिख रहा है कि लाहौर में जमात उद दावा के हेडक्वार्टर में बैठा एक शख्स श्रीनगर के डीपीएस स्कूल में चल रहे आतंकी हमले की लाइव कमेंट्री कर रहा है. सैकड़ों लोगों की मौजूदगी में ये शख्स श्रीनगर के हमलावरों को लश्कर का मुजाहिद्दीन बता रहा है और दावा कर रहा है कि आतंकी भारतीय सेना का जमकर मुकाबला कर रहे हैं. इस शख्स के साथ जमात उद दावा चीफ हाफिज सईद का साला हाफिज अब्दुल रहमान मक्की भी बैठा दिख रहा है.

इतनी ही नहीं ये शख्स आतंकियों के लिए ईद की नमाज के दौरान श्रीनगर में हमलावर आतंकियों के लिए दुआ करने के गुजारिश कर रहा है.

फिलहाल जमात उद दावा की कमान हाफिज सईद के साले अब्दुल रहमान मक्की के हाथों में है. ये वीडियो सीधा सबूत है कि पाकिस्तान में बैठे आतंकी ही कश्मीर समेत हिंदुस्तान में दहशत फैला रहे हैं.

मारे गए पंथा चौक के दोनों हमलावर आतंकी
बता दें कि शनिवार को श्रीनगर के पांथा चौक में CRPF की गाड़ी पर आतंकियों ने हमला कर दिया था. इसमें सीआरपीएफ के सब इंस्पेक्टर साहिब शुक्ला शहीद हो गए, जबकि दो जवान के जख्मी हो गए. सुरक्षा बलों की जवाबी कार्रवाई के बाद आतंकी पास के डीपीएस स्कूल में घुस गए. इसके बाद सुरक्षा बलों ने स्कूल को चारों ओर से घेर लिया है. आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा ने हमले की जिम्मेदारी ली.

आतंकियों के स्कूल में छिपने के बाद पांथा चौक के आसपास राम मुंशी बाग से सेमपोरा तक धारा 144 लगा दी गई. गनीमत रही कि स्कूल में कोई स्टूडेंट या स्टॉफ नहीं थे. वरना आतंकी इन्हें बंधक बना सकते थे. यह आतंकी हमला आर्मी कैंट इलाके में हुआ. रविवार को देर शाम सुरक्षा बलों ने दोनों आतंकियों को मार गिराया. सेना ने आतंकियों के पास से भारी मात्रा में हथियार बरामद किया.

पिछले एक साल में जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर स्थित इस इलाके को आतंकियों ने तीसरी बार निशाना बनाया है. इससे पहले दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में मुठभेड़ में सेना ने लश्कर-ए-तैयबा के तीन आतंकियों को मार गिराया था.

Source: http://aajtak.intoday.in

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered By Indic IME