बुरी खबर: छूट पर गाड़ी खरीदने वालों के लिए बुरी खबर, डिस्काउंट के नाम पर ग्राहकों को बनाया गया बेवकूफ

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पूरे देश में हाहाकार मचा हुआ है। पूरी ऑटो इंडस्ट्री में कंपनियां उम्मीद लगाए बैठी थीं कि उन्हें कोर्ट से एक साल का वक्त और मिल जाएगा पुराना माल खपाने के लिए लेकिन ऐसा नहीं हुआ। लगभग 9 लाख की इंवेंटरी पूरी इंडस्ट्री में अभी भी बची हुई है और कंपनियों के पास इन्हें खपाने के लिए दो ही रास्ते हैं या तो वो सारा का सारा माल निर्यात कर दें या फिर उन्हें नए मानक के अनुरूप अपग्रेड कर दें। नए मानक पर अपग्रेड करने में उन्हें सबसे ज्यादा दिक्कत ट्रांसपोर्टेशन पर आएगी क्योंकि डीलर्स के पास से दोबारा सारे वाहनों को प्लांट लाना पड़ेगा जो कि काफी महंगा होगा। अंतिम रास्ता कंपनियों के पास ये है कि वो सस्ते से सस्ते दाम पर अपने वाहनों को बेच दें।

अपने बीएस 3 मानक वाली मोटरसाइकिलों व स्‍कूटरों को बेचने के लिए दो दुपहिया कंपनियों ने अंतिम बॉल पर सिक्स लगाने की कोशिश की है। सुप्रीम कोर्ट से मिली निराशा के बाद अब इन कंपनियों ने अपने दुपहिया वाहनों पर 22 हजार रुपये तक डिस्‍काउंट ऑफर किया है। गौरतलब है कि सबसे ज्यादा बीएस3 इंवेंटरी हीरो व होंडा के पास है। दुपहिया इंडस्‍ट्री के पास अभी भी 6.71 लाख वाहन बचे हुए हैं जिन्हें कंपनियां 1 अप्रैल के बाद नहीं बेच पाएंगी।

हीरो ने अपने स्‍कूटरों की बिक्री पर 12,500 रुपये की छूट, प्रीमियम मोटरसाइकिलों पर 7500 की छूट व एंट्री लेवल मोटरसाइकिलों पर 5000 रुपये के छूट का ऑफर किया है। हीरो से मिली जानकारी के मुताबिक यह ऑफर 31 मार्च तक दिया जा रहा है।

वहीं दूसरी ओर होंडा ने अपने सभी दुपहिया वाहनों पर महज एक डिस्काउंट 22000 रुपये दिया है। ये कंपनियां एक अंतिम प्रयास कर रही हैं कि उनके बीएस3 मानक पर बने ज्यादा से ज्यादा माल 31 मार्च से पहले निकल जाए।

आपको बता दें कि जिन व्यक्तियों ने 10 से 15000 के डिस्काउंट पर गाड़ियां खरीद ली है उन लोगों के लिए एक बड़ी दुखद घटना 31 मार्च के बाद होने वाले सभी रजिस्ट्रेशन पर बीएस-4 पोलूशन किट लगवाना अनिवार्य रहेगा जिसकी अनुमानित कीमत 17000 से 20000 के आसपास आएगी कंपनी ने अपना स्टॉक ग्राहकों के साथ एक बहुत बड़ी साजिश के लिए सावधान तो इस प्रकार की खबर मीडिया में चल रही है कि छूट बाली गाड़ियों में अब किट लगबानी पड़ सकती है। जिसकी कीमत 17000 से 20000 होती है।

Sources: c.mp.ucweb.com

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered By Indic IME